सर्दी के मौसम में पीएं तुलसी का काढ़ा, दिलाएगा कई बीमारियों से छुटकारा

  • ByJaianndata.com
  • Publish Date: 12-11-2017 / 7:14 PM
  • Update Date: 12-11-2017 / 7:14 PM

आयुर्वेद में तुलसी के पौधे के हर भाग को स्वास्थ्य के लिहाज से फायदेमंद बताया गया है। तुलसी की जड़, उसकी शाखाएं, पत्ती और बीज सभी का अपना-अपना महत्व है। आमतौर पर घरों में दो तरह की तुलसी देखने को मिलती है। वहीँ, तुलसी के पत्ते, इसके रस और इसकी चाय को सही तरीके से इस्तेमाल में लाया जाए तो यह कई गंभीर बीमारियों से छुटकारा दिलाने में मददगार हो सकता है।

तुलसी का काढ़ा बनाने के लिए सामग्री

• तुलसी की 10-12 पत्तियां
• आधी लेमन ग्रास (हरे चाय की पत्ती)
• एक इंच अदरक का टुकड़ा (कद्दूकस कर लें)
• पानी 4 कप
• गुड़ 3 चम्मच या तीन छोटी डली

बनाने की विधि
सबसे पहले तुलसी की पत्तियों और लेमनग्रास को अच्छी तरह धो लें। एक पैन में पानी डालकर मीडियम आंच पर उबलने के लिए रखें। जब हलका गरम हो जाए तो इसमें तुलसी की पत्तियां, लेमन ग्रास और अदरक डालकर 4-5 मिनट तक उबालें। इसके बाद इसमें गुड़ डालकर आंच बंद कर दें।

काढ़े को चम्मच से चलाते रहें ताकि गुड़ घुल जाए। 1-2 मिनट तक ठंडा होने के बाद कप में छानकर गर्मागर्म पीएं। इसके अलावा आप तुलसी के काढ़े के में 2-3 कालीमिर्च भी डाल सकते हैं और फ्लेवर चाहिए तो इसमें एक इलायची भी कूटकर डाल दें। लेमन ग्रास न मिले तो कोई बात नहीं। बिना इसके भी तुलसी का काढ़ा बना सकते हैं।

फायदे
• ठण्ड के मौसम सर्दी, जुकाम और गले में खराश से छुटकारा दिलाने में सबसे बढ़िया काम करता है यह तुलसी का काढ़ा। इसमें चुटकीभर सेंधा नमक मिलाकर पीने से फ्लू रोग जल्दी ठीक हो सकता है।

• पथरी निकालने में सबसे बेहतर है यह तुलसी का काढ़ा। यदि इस काढ़े में रोजाना एक चम्मच शहद मिलाकर नियमित 6 महीने तक सेवन किया जाए तो पथरी मूत्र मार्ग से बाहर निकल सकती है।

• बर्तन में पानी भरकर इसमें तुलसी की पत्तियां डालकर एक-दो घंटे तक रख दिया जाता है. बाद में इसे छानकर पीया जाता है। सर्दी के मौसम में त्वचा संबंधी रोग होने का खतरा ज्यादा रहता है। ऐसे में तुलसी की पत्तियों को त्वचा पर रगड़ने से संक्रमण खत्म हो सकता है। तुलसी में पाया जाने थाइमोल त्वचा रोगों में काफी राहत देता है।

Share This Article On :
loading...

BIG NEWS IN BRIEF