मेक्सिको में भूकंप 149 की मौत, 44 जगह इमारतें गिरीं

  • ByJaianndata.com
  • Publish Date: 20-09-2017 / 11:01 AM
  • Update Date: 20-09-2017 / 11:02 AM

मेक्सिको. मेक्सिको में मंगलवार देर रात 7.1 तीव्रता का भूकंप के कारण 149 लोगों की मौत हो गई। शहर की कई ईमारतें धव्स्त। मेक्सिको सिटी के मेयर मिगुएल मेन्सेरा का कहना है कि अकेले राजधानी में ही 44 जगहों पर ईमारतें गिरीं हैं। भूकंप के चलते हजारों लोग सड़कों पर निकल आए। मेक्सिको को इंटीरियर मिनिस्टर ने कहा है कि ईमारतें कई जगह कमजोर हो गईं हैं,  हमें संभलकर रेस्क्यू आॅपरेशन चलाना पड़ रहा है।

आज ठीक 32 साल पहले भी आया था भूंकप उसी दिन…
न्यूज एजेंसी के अनुसार मेक्सिको में 32 साल पहले 1985 में भी इसी दिन 8 तीव्रता का भूकंप आया था। इसमें हजारों लोग मारे गए थे। इसके बाद दो हफ्ते के भीतर आए एक और ताकतवर भूकंप में 90 जानें चली गईं। जिन इलाकों से नुकसान की खबरें आ रही हैं, वहां पर एजेंसी ने रेस्क्यू आॅपरेशन शुरू कर दिया है। मेक्सिको की एक 55 साल की महिला ने बताया, मैं बेहद डरी हुई हूं, मैं अपने आंसू नहीं रोक पा रही हूं। यह बिल्कुल 1985 की भयानक रात जैसा था। अमेरिका के राष्ट्रपति ने भी इस आपदा पर दुख जताते हुए ट्वीट किया, हम आपके साथ हैं इस आपदा में और हमेशा आपके साथ रहेंगे।

कहां-कितनी मौत?
मंगलवार रात 149 लोगों की पुष्टि मेक्सिको की नेशनल सिविल डिफेंस एजेंसी के प्रमुख लुई फिलिप पुएंते ने की। पुएंते के अनुसार मोरलोस स्टेट में 64 लोग, जबकि राजधानी मेक्सिको सिटी में 36 लोगों की मौत की खबर है। प्यूबला स्टेट में 29, स्टेट आॅफ मेक्सिको में 9 और गुरेरो स्टेट में एक शख्स की मौत की खबर है। 50-60 लोगों को तो लोकल सिटिजंस और इमरजेंसी वर्कर्स ने बचा लिया। अफसरों के मुताबिक, मेक्सिको सिटी में 70 घायलों को हॉस्पिटल में एडमिट किया गया है। फेडरल इंटीरियर मिनिस्टर मिगुएल एंजेल ओसोरियो चोंग के मुताबिक, “अभी भी कई लोग इमारतों में फंसे हुए हैं।

क्या बोले लोग?
– उस वक्त में टैक्सी में थी। मैं तुरंत टैक्सी से बाहर आ गई। जहां में खड़ी थी, वहीं से थोड़ी दूर एक 3 मंजिला इमारत गिर गई। 26 साल की न्यूट्रीशनिस्ट मैरियाना मोरालेस ने बताया कि जब भूकंप आया, 30 साल के कार्लोस मेंडोजा ने बताया कि उन्होंने एक शख्स के साथ मिलकर मलबे में दबे लोगों को जिंदा निकाला। जिस वक्त भूकंप आया एक महिला सेकंड फ्लोर पर कुछ पढ़ रही थीं। इसी फ्लोर पर 11 महिलाएं और थीं। वह महिला बताती है हम भागे लेकिन सीढ़ियां बची ही नहीं थीं। मैं गिर पड़ी। डरे-सहमे कई लोग उनके ऊपर से निकल गए। बाद में उन्हें भी बाहर निकाला गया।

तीव्रता 7.1 से आया भूकंप…
भूकंप की तीव्रता 7.1 थी, यूएस जियोलॉजिकल सर्वे के मुताबिक, जबकि मेक्सिको के सीस्मोलॉजिकल इंस्टिट्यूट के मुताबिक भूकंप की तीव्रता 6.8 थी। भूकंप का केंद्र प्यूब्ला प्रॉविंस में चियाउतला डि तापिया से 7 किमी दूर पश्चिम में था। कई बिल्डिंग्स कमजोर हो गई हैं और वे कभी भी गिर सकती हैं। भूकंप इतना तेज था कि एक फ्लोटिंग गार्डन में एक नदी में पानी में लहरें उठने लगीं।

इसलिए आता है भूकंप?
धरती के अंदर 7 प्लेट्स हैं जो हमेशा घूमती रहती हैं। जहां ये प्लेट्स ज्यादा टकराती हैं, वह जोन फॉल्ट लाइन कहलाता है। बार-बार टकराने से प्लेट्स के कोने मुड़ते हैं , जब ज्यादा दबाव बनता है तो प्लेट्स टूटने लगती हैं। नीचे की ऊर्जा बाहर आने का रास्ता खोजती है। हलचल के बाद भूकंप आता है।

कितनी तबाही ला सकता है भूकंप?
आइए आंकड़ों पर एक नजर…
रिक्टरस्केल असर
0 से 1.9 सिर्फ सीज्मोग्राफ से ही पता चलता है।
2 से 2.9 हल्का-फुलका कंपन।
3 से 3.9 कोई बड़ी गाड़ी आपके पास से निकल जाए, इस तरह का असर।
4 से 4.9 खिड़कियां पर लगे कांच टूट सकते हैं। दीवारों पर टंगी घड़ी व फ्रेम गिर सकती हैं।
5 से 5.9 आपका फर्नीचर हिल सकता है।
6 से 6.9 बिल्डिंगों की नींव दरार आ सकती है। अधिकतर ऊपरी मंजिलों को बड़ा नुकसान हो सकता है।
7 से 7.9 बिल्डिंगें धरधरा कर गिर जाती हैं। जमीन के अंदरुनी पाइप फट जाते हैं।
8 से 8.9 बिल्डिंगों सहित बड़े ओवर ब्रीज भी गिर जाते हैं। पुरानी ईमारतें भी गिर सकती हैं।

यदि 9 की तीव्रता से यदि भूंकप आए तो मान लीजिए सबकुछ शमशान हो जाता है। और यदि कोई मैदान में खड़ा हो तो उसे धरती लहराते हुए दिखेगी। सीई साइड हो तो सुनामी।

Share This Article On :
loading...

BIG NEWS IN BRIEF