ईरानी राष्ट्रपति बोले, 10 ट्रंप मिलकर भी ईरान से उसका हक नहीं छीन सकते

  • ByJaianndata.com
  • Publish Date: 08-10-2017 / 3:47 AM
  • Update Date: 08-10-2017 / 3:47 AM

तेहरान। ईरान के राष्ट्रपति ने दुनिया के कई देशों के साथ 2015 में किए गए न्यूक्लियर समझौते का बचाव करते हुए कहा कि 10 डॉनल्ड ट्रंप मिलकर भी इस समझौते से उनके देश को मिलने वाले लाभ को नहीं रोक सकते हैं। उन्होंने कहा कि ईरान से कोई उसका हक नहीं छीन सकता है।

ईरान के राष्ट्रपति हसन रूहानी ने तेहरान विश्वविद्यालय में छात्रों को संबोधित करते हुए कहा, हमने इस समझौते का लाभ लिया है और यह अपरिवर्तनीय है। कोई भी इसे वापस नहीं ले सकता है। 10 ट्रंप भी ऐसा नहीं कर सकते हैं। बता दें कि अमेरिका के राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रंप ने कहा था कि वह अगले सप्ताह ईरान के ऐतिहासिक परमाणु समझौते को अमान्य घोषित कर देंगे और इसके बाद यह समझौता रद्द हो सकता है।

अंतरराष्ट्रीय समुदाय के साथ हुए समझौते के तहत ईरान के न्यूक्लियर कार्यक्रम पर कई पाबंदियां लग गईं थीं। इसके तहत ईरान पर से तेल निर्यात समेत कई अन्य तरह के प्रतिबंध हटा लिए गए थे।
उधर, ट्रंप ईरान को लेकर व्यापक अमेरिकी रणनीति अपना सकते है, जिसमें परमाणु समझौते को लेकर उनका फैसला महत्वपूर्ण है। ट्रंप 15 अक्टूबर को कांग्रेस के समक्ष इस बात की पुष्टि करेंगे कि क्या ईरान समझौते का पालन कर रहा है और क्या यह समझौता अमेरिका के हितों के अनुरूप है।

अगर वह यह फैसला करते हैं कि यह समझौता अमेरिकी हितों के अनुरूप नहीं है तो इससे अमेरिकी सांसदों के समक्ष ईरान पर दोबारा प्रतिबंध लगाने का रास्ता खुल सकता है, जिस वजह से यह समझौता खत्म हो जाएगा। ट्रंप काफी लंबे समय से ईरान परमाणु समझौते की आलोचना करते रहे हैं। यह समझौता ईरान और विश्व के छह देशों ब्रिटेन, चीन, फ्रांस, रूस, अमेरिका और जर्मनी के बीच जुलाई 2015 में हुआ था।

 

Share This Article On :

BIG NEWS IN BRIEF