सरकार ने समुद्री विमान में निवेश के लिए अमेरिकी उद्योगपतियों को आमंत्रित किया

  • ByJaianndata.com
  • Publish Date: 08-12-2015 / 11:14 PM
  • Update Date: 14-12-2015 / 7:48 PM

नई दिल्ली। केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने देश में समुद्री विमान की संभावना का दोहन करने के लिये अमेरिकी उद्योगपतियों को आमंत्रित किया है। देश में समुद्री विमान के विकास से पर्यटन क्षेत्र को गति मिलेगी। सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री गडकरी ने कहा कि चाहे बात विज्ञान और प्रौद्योगिकी की हो या फिर कृषि की, यह समय नवप्रर्वतन का है जो देश की तस्वीर बदल सकता है। उन्होंने कहा हम सामुद्रिक विमान को प्रोत्साहन देना चाहते हैं।

छोटे से देश मालदीव के पास 47 ऐसे विमानों का बेड़ा है लेकिन भारत में व्यापक संभावना के बावजूद कुछ नहीं है। मैं अमेरिकी उद्योगपतियों से भारत में इस क्षेत्र में निवेश को न्यौता देता हूं। यहां काफी संभावना है। उद्योग मंडल फिक्की द्वारा आयोजित ग्लोबल आर एंड डी समिट 2015 को संबोधित करते हुए गडकरी ने कहा कि सीप्लेन से पर्यटन को गति मिलेगी और सरकार सभी प्रकार की मंजूरी को सुगम बनाएगी। मंत्री ने कहा कि पर्यटकों को आकर्षित करने के लिये सरकार की शीर्ष प्राथमिकता 1,300 द्वीप तथा 218 लाइटहाउस के विकास की है।

उन्होंने कहा कि सरकार पर्यावरण अनुकूल नीतियों के जरिये सतत विकास को लेकर प्रतिबद्ध है। दिल्ली में प्रदूषण के बढते स्तर के बारे में उन्होंने कहा हम दो साल में वाहन उद्योग के जरिये प्रदूषण की समस्या का समाधान करेंगे। सड़कों के डिजाइन में सुधार, यातायात की भीड़ को कम करने तथा इथेनॉल जैसे पर्यावरण अनुकूल ईंधन को बढ़ावा देने जैसे उपाय किए जाएंगे।

गडकरी ने कहा कि सरकार पूर्वी बाहरी एक्सप्रेसवे (ईस्टर्न पेरिफेरल एक्सप्रेसवे) को पूरा करने को लेकर प्रतिबद्ध है। प्रधानमंत्री ने इसकी आधारशिला रखी है। 135 किलोमीटर एक्सप्रेसवे का निर्माण 5,763 करोड़ रूपए की लागत से किया जाएगा। इसे राष्ट्रीय राजधानी में यातायात तथा प्रदूषण कम करने के मकसद से डिजाइन किया गया है।

Share This Article On :

BIG NEWS IN BRIEF