बेहद खास हे इस बार का श्रावण मास

  • ByJaianndata.com
  • Publish Date: 10-07-2017 / 4:57 PM
  • Update Date: 10-07-2017 / 4:58 PM

गुरुग्राम। सोमवार से सावन के पावन महीने की शुरुआत हो गई है। इस बार इस महीने की शुरूआत सोमवार से हुई है और इसका समापन भी सोमवार को ही होगा। जो शिव पूजन के लिए काफी उपयुक्त माना गया है। 1990 के बाद ऐसा योग बना है। इसे इंदुवार हर्षण योग कहते हैं। सावन महीने में इस बार पांच सोमवार पड़ेंगे। ऐसे में सावन सोमवार के व्रत का पुण्य हजार गुना हो जाता है। ऐसा माना जाता है कि सोमवार का व्रत रखने वालों पर भगवान शिव की अक्षय कृपा रहती है।

सावन का दूसरा सोमवार सत्रह जुलाई को पड़ेगा। इस दिन अष्टमी तिथि अश्विनी नक्षत्र और धृति योग है। स्वामी चंद्रमा राज स्थान में है। इस दिन का व्रत राजकीय कार्यो में सफलता दिलाएगा। तीसरा सोमवार 24 जुलाई को है। इस दिन प्रतिपदा तिथि पुष्य नक्ष्त्र और सिद्धि योग है। इस दिन का व्रत दिन के स्वामी चंद्रमा केंद्रगत होने के कारण आरोग्य और वंश वृद्धि के लिए उत्तम रहेगा। चौथा सोमवार 31 जुलाई को है इस दिन अष्टमी तिथि और स्वाति नक्षत्र का शुभ योग है।

दिन के स्वामी चंद्रमा के भूमि, भवन व सुख के स्थान पर होने से दिन के व्रत से भूमि, भवन और भौतिक सुख की प्राप्ति के योग हैं। सावन का अंतिम और पांचवा सोमवार सात अगस्त को है। इस दिन पूर्णिमा तिथि श्रवण नक्ष्त्र और आयुष्मान योग है। दिन का स्वामी चंद्रमा के सप्तम स्थानगत होने से विवाह के योग बनेंगे और दाम्पत्य जीवन में मधुरता व सुख का प्रवेश होगा।

Share This Article On :
loading...

BIG NEWS IN BRIEF