बंगाल में मोहन भागवत को नहीं मिली जगह, भड़का संघ

  • ByJaianndata.com
  • Publish Date: 05-09-2017 / 2:49 PM
  • Update Date: 05-09-2017 / 2:49 PM

कोलकाता। पश्चिम बंगाल में तृणमूल कांग्रेस और भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्ता के बीच कई बार झड़प होती है। दोनों ही पार्टी के नेता एक-दूसरे पर आरोप प्रत्यारोप की राजनीति करते रहे है। हाल ही में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) ने आरोप लगाया कि यहां के एक सरकारी आॅडिटोरियम में संघ प्रमुख मोहन भागवत का कार्यक्रम निर्धारित था लेकिन कार्यक्रम की बुकिंग रद्द कर दी गई है। संघ ने बुकिंग रद्द करने के कदम की निंदा की है। यह कार्यक्रम अक्टूबर के पहले हफ्ते में होना था।

पहले भी हो चुका है ऐसा
राज्य में आरएसएस के प्रवक्ता ने कहा, यह पहली बार नहीं है जब इस तरह का कदम उठाया गया है। इससे पहले भी (पश्चिम बंगाल) सरकार ऐसा कर चुकी है। हम इस कदम की निंदा करते हैं।’ बता दें कि 2014 में भी संघ प्रमुख भागवत के एक कार्यक्रम को मंजूरी नहीं दी गई थी। सिस्टर निवेदिता की 150वीं जयंती समारोह समिति ने कार्यक्रम के लिए महाजाति सदन मई में ही बुक किया था।

…तो इसलिए नहीं हो सकता कार्यक्रम
समिति के एक प्रवक्ता ने दावा किया कि आॅडिटोरियम ने जून में बुकिंग ले ली थी। समिति के महासचिव रंतिदेव सेनगुप्ता ने कहा, ‘लेकिन पिछले हफ्ते आॅडिटोरियम के अधिकारियों ने पहले कहा कि हमें पुलिस की मंजूरी लेनी होगी। जब हमने उनसे कहा कि हम पहले ही पुलिस को कार्यक्रम की जानकारी दे चुके हैं, तो उन्होंने कहा कि आॅडिटोरियम में उस दौरान पुनर्निमाण का काम कराया जाएगा और इसलिए हमारा कार्यक्रम नहीं हो सकता।

निर्माण कार्य के चलते नहीं हो सकती बुकिंग
आॅडिटोरियम के अधिकारियों ने कहा कि उस दौरान पुनर्निमाण एवं मरम्मत का काम होगा और इसलिए ‘सुरक्षा कारणों ‘ से जगह मुहैया नहीं कराई जा सकती। आॅडिटोरियम के सूत्रों ने कहा कि आॅडिटोरियम में पुनर्निमाण एवं मरम्मत का काम होगा और इसलिए ‘सुरक्षा कारणों’ से जगह मुहैया नहीं कराई जा सकती। सूत्रों ने कहा कि दूसरे संगठनों की भी इस अवधि की बुकिंग रद्द की गई है।

Share This Article On :

BIG NEWS IN BRIEF