पंजाब विधान सभा में विपक्ष के नेता एचएस फूलका ने दिया इस्तीफा

  • ByJaianndata.com
  • Publish Date: 10-07-2017 / 12:44 PM
  • Update Date: 10-07-2017 / 12:44 PM

नई दिल्ली। ऐसे लोग कम ही होते हैं जो अपने समुदाय के लोगों को न्याय दिलाने के लिए विधान सभा में विपक्ष के नेता जैसा प्रतिष्ठापूर्ण पद भी त्याग देते हैं। ऐसी ही मिसाल देते हुए आम आदमी पार्टी के विधायक, प्रसिद्ध वकील और पंजाब राज्य विधानसभा में नेता विपक्ष एचएस फूलका ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया है। उनके इस निर्णय के पीछे वर्ष 1984 में हुए सिख विरोधी दंगों के पीड़ितों की ओर से मामले लड़ने को कारण बताया जा रहा है।

उल्लेखनीय है कि वरिष्ठ वकील फूलका पिछले कई वर्षों से दिल्ली के सिख विरोधी दंगों के पीड़ितों को न्याय दिलाने के लिए मामले लड़ते रहे हैं. ऐसे में पंजाब में विधायक चुने जाने और नेता विपक्ष का पद मिलने पर वह वकील की तौर पर ये केस लड़ते तो ऑफिस ऑफ प्रॉफिट का मामला बनता. वहीं फूलका के लिए सजातीयों को न्याय दिलाना पहली प्राथमिकता है।इसीलिए वे कई बार कह चुके हैं कि अगर इन दंगा पीड़ितों का केस लड़ने में नेता विपक्ष का पद रुकावट बनता है, तो वह यह पद छोड़ देंगे।

बता दें कि सिख विरोधी दंगों में कांग्रेस के नेता सज्जन कुमार की भूमिका को लेकर अदालत में सुनवाई चल रही है. एचएस फूलका पीड़ितों की ओर से पैरवी करना चाहते हैं, इसीलिए उन्होंने पंजाब विधानसभा में नेता विपक्ष पद से अपना इस्तीफा दे दिया है, फिलहाल वह आम आदमी पार्टी के विधायक बने रहेंगे, इस पर कोई आपत्ति नहीं है।

Share This Article On :
loading...

BIG NEWS IN BRIEF