दिल्ली सरकार का एतिहासिक कदम, लोगों को मिलेगी ई-आरटीआई की सुविधा

  • ByJaianndata.com
  • Publish Date: 10-07-2017 / 6:01 PM
  • Update Date: 10-07-2017 / 6:01 PM

नई दिल्ली। दिल्ली सरकार ने आरटीआई से संबंधित कामकाज को ऑनलाइन कर दिया है। अब घर बैठे आरटीआई लगाना संभव होगा। इसके साथ ही ई-आरटीआई की सुविधा देने वाला दिल्ली देश का पहला राज्य बन गया है। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने सोमवार को ऑनलाइन आरटीआई सेवा का शुभारंभ किया। उन्होंने कहा कि यह दिल्ली के लोगों के लिए ऐतिहासिक दिन है। दरअसल अब तक विभागों से जुड़ी जानकारी हासिल करने के लिए लोगों को दफ्तर जाकर सूचना के अधिकार के तहत आरटीआई दाखिल करना पड़ता था।

इसके लिए आवेदन लिखना, पैसे या पोस्टल ऑर्डर जमा कराना होता था, लेकिन अब दिल्ली सरकार के विभागों की आरटीआई के तहत जानकारी लेना आसान हो गया है। अब घर बैठे विभागों के कामकाज की जानकारी हासिल की जा सकती है। दिल्लीवासी करीब 172 विभागों से जु़ड़ी जानकारी ई-आरटीआई के जरिए ले सकेंगे। यही नहीं, केजरीवाल ने निर्देश दिए हैं कि जितनी भी आरटीआई आएं, उनके जवाब भी ऑनलाइन किए जाएं, इससे कई आरटीआई कम हो जाएंगी। इसके तहत मंत्री ही नहीं, बल्कि मुख्यमंत्री भी दायरे में आएगा।

इस मौके पर आम आदमी पार्टी सुप्रीमो अरविंद केजरीवाल ने कहा कि आज देश और दिल्ली के लोगों के लिए ऐतिहासिक दिन है। केजरीवाल ने इस मौके पर कहा कि आज समाजसेवी अन्ना हजारे और अरुणा रॉय की याद आ रही है। दोनों ने आरटीआई के क्षेत्र में काफी काम किया। इसके साथ उन्होंने यह भी कहा कि आरटीआइ के दयारे में मंत्री ही नहीं मुख्यमंत्री भी आएंगे। केजरीवाल ने आरटीआइ कानून लाने के लिए लंबी लड़ाई लड़ी, जिसके चलते केंद्र सरकार ने 2005 में आरटीआइ के लिए एक मजबूत कानून बनाकर इसे लागू किया।

इस सुविधा के तहत दिल्ली सरकार से संबंधित विभागों की जानकारी हासिल करने के लिए अब सरकारी कार्यालयों के चक्कर नहीं लगाने होंगे। दिल्लीवाले अब घर बैठे ही आरटीआई का जवाब हासिल कर सकेंगे। दिल्ली के प्रशासनिक सुधार मंत्री कैलाश गहलोत के मुताबिक, इस पोर्टल से सभी विभागों को लिंक किया गया है। अब आवेदकों को आरटीआइ के तहत जानकारी प्राप्त करने के लिए किसी सरकारी दफ्तर में जाने की जरूरत नहीं पड़ेगी। घर बैठे आवेदन के साथ ही डॉक्यूमेंट भी ऑनलाइन अपलोड कर सकते हैं। यही नहीं आरटीआइ की फीस भी आवेदक ऑनलाइन ही जमा करा सकेंगे।

Share This Article On :

BIG NEWS IN BRIEF