कोटला की यादों में खो गए कोहली

  • ByJaianndata.com
  • Publish Date: 03-12-2015 / 10:19 PM
  • Update Date: 03-12-2015 / 10:19 PM

2015_12$largeimg02_Dec_2015_121751387नई दिल्ली। किसी भी क्रिकेटर के लिए देश की अगुवाई करना गर्व की बात होती है लेकिन जब आप अपने घरेलू मैदान पर अपने लोगों के सामने कप्तानी करते हो तो यह उस खिलाड़ी के लिये विशेष बन जाता है। भारतीय टेस्ट कप्तान विराट कोहली कल जब दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ फिरोजशाह कोटला में पहली बार टीम की अगुवाई करेंगे तो निश्चित तौर पर उन पर भावनाओं का ज्वार हावी रहेगा।

इस 27 वर्षीय क्रिकेटर ने कुछ पुरानी यादों को ताजा किया जब उन्होंने यहां ट्रायल मैच में आयु वर्ग की टीम की तरफ से शतक जड़ा और फिर इसी मैदान पर वनडे सैकड़ा बनाया। कोहली ने कोटला पर कप्तानी के बारे में पूछे जाने पर कहा मेरी क्रिकेट की शुरूआत यहां राज्य की टीम से हुआ था। मैंने अपना पहला रणजी मैच यहीं पर खेला था। इस मैदान से विशेष यादें जुड़ी हैं। अपने घरेलू मैदान पर भारतीय टीम की कप्तानी करना मेरे लिये विशेष मौका है।

उन्होंने कहा यही वह मैदान है जहां सब कुछ मेरे अनुकूल हुआ। इसी मैदान पर मैंने ट्रायल मैच में शतक लगाया था। तब सभी चयनकर्ता और प्रशासक देख रहे थे और संभवत: वे उससे प्रभावित हुए। पहले साल नकार दिये जाने के बाद मैंने इस तरह से टीम में जगह बनायी। इस मैदान पर वास्तव में मैंने अपना करियर शुरू होते हुए देखा।

Share This Article On :

BIG NEWS IN BRIEF