करगिल युद्ध में भारत पर परमाणु हमला करने वाला था पाकिस्तान

  • ByJaianndata.com
  • Publish Date: 03-12-2015 / 10:30 PM
  • Update Date: 14-12-2015 / 7:57 PM

2015_12$largeimg02_Dec_2015_121751387वाशिंगटन। भारत और पाकिस्तान में वर्ष 1999 में कारगिल युद्ध के दौरान अमेरिकी खुफिया एजेंसी सीआइए ने तत्कालीन अमेरिकी राष्ट्रपति बिल क्लिंटन को चेताया था कि पाकिस्तान अपने परमाणु हथियार तैनात करने की तैयारी कर रहा है।

व्हाइट हाउस के एक पूर्व अधिकारी ने यह जानकारी दी है। तब व्हाइट हाउस की राष्ट्रीय सुरक्षा परिषद में काम कर रहे ब्रुस रेडिल ने बुधवार को बताया कि अपने सेना प्रमुख जनरल परवेज मुशर्रफ की मनमानी से पूरी दुनिया में शर्मिदगी उठा रहे पाकिस्तानी प्रधानमंत्री नवाज शरीफ ने वाशिंगटन आकर युद्ध खत्म कराने के लिए बिल क्लिंटन से मदद मांगी थी।

सीआईए ने रोजाना की गोपनीय सूचना के तहत चार जुलाई 1999 को यह जानकारी राष्ट्रपति को उस वक्त दी थी जब उनका मेहमान पाकिस्तानी प्रधानमंत्री नवाज शरीफ से मिलने का कार्यक्रम था। सीआईए के पूर्व विशेषज्ञ रीडेल ने सेंडी बर्जर के लिए लिखे एक श्रद्धांजलि नोट में इस बात का खुलासा किया है। बर्जर का कैंसर से मंगलवार को निधन हो गया। वह क्लिंटन के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार रहे थे।

उन्होंने लिखा है, ‘बर्जर ने क्लिंटन से अपील की थी कि वह शरीफ की बात सुनें लेकिन दृढ़ रहें। पाकिस्तान ने यह संकट शुरू किया है और इसे बगैर किसी मुआवजे के खत्म करना चाहिए। राष्ट्रपति को प्रधानमंत्री (शरीफ) से यह स्पष्ट करने की जरूरत है कि सिर्फ पाकिस्तान के पीछे हटने से ही आगे का तनाव दूर हो सकता है।

रीडेल ने लिखा है, ‘शरीफ अपने सैनिकों को वापस बुलाने को राजी हो गए थे। इसकी कीमत उन्हें अपने पद के रूप में चुकानी पड़ी। सेना ने एक तख्तापलट में उन्हें अपदस्थ कर दिया और उन्होंने सउदी अरब में एक साल निर्वासन में बिताया। लेकिन दक्षिण एशिया में परमाणु युद्ध का खतरा टल गया।

Share This Article On :
loading...

BIG NEWS IN BRIEF